किसने(भारतीय) नापी थी, सबसे पहले माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई ? —:

        इस लेख में 

         i) कौन थे राधानाथ सिकदर ?

        ii) कौन थे जॉर्ज एवरेस्ट ?

       iii) कैसे नापी जाती है पर्वत की ऊंचाई ?

       iv) माउंट एवरेस्ट कहां स्थित है ?

       v) क्यों बढ़ रही है माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई ?

      vi) विश्व का सबसे ऊंचा पर्वत कौन सा है ?

      vii) माउंट एवरेस्ट पर चढ़ने वाले सबसे पहले व्यक्ति ?

अधिकतर भारतीयों के बीच यह किवदंती प्रचलित है; कि हिमालय की ऊंचाई की सर्वप्रथम गणना; भारत के प्रथम सर्वेयर जनरल जॉर्ज एवरेस्ट ने की थी; लेकिन इस तथ्य में जरा भी सच्चाई नहीं है; वास्तविकता में हिमालय की ऊंचाई की सर्वप्रथम गणना भारतीय गणितज्ञ राधानाथ सिकदर ने की थी; जो कोलकाता के रहने वाले थे !

                        अपनी त्रिकोणमिति गणितीय गणनाओं के आधार पर; सन 1852 में राधानाथ सिकदर ने विश्व की सबसे ऊंची पर्वत श्रेणी माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई 29002 फिट बताइ, और इसकी आधिकारिक घोषणा सन 1856 में की गई ! इसके बाद ही माउंट एवरेस्ट का नामकरण भी किया गया जिसे अब तक पिक xv (15) के नाम से संबोधित किया जाता था !

i) कौन थे राधानाथ सिकदर –:

अक्टूबर 1813 में कोलकाता में जन्मे राधा नाथ सिकदर भारतीय सर्वेक्षण विभाग में कंप्यूटर का कार्य करते थे, हिंदू कॉलेज के प्रोफेसर  टेटलर के वे छात्र थे, प्रोफेसर टेटलर के सुझाव पर ही जॉर्ज एवरेस्ट ने उन्हें भारतीय सर्वेक्षण विभाग में कंप्यूटर के पद पर नियुक्ति दी थी !

                     राधानाथ सिकदर त्रिकोणमिति गणित के विद्वान थे, जॉर्ज एवरेस्ट के रिटायर होने के बाद; सर्वेयर जनरल ऑफ इंडिया के पद पर आए ‘एंड्रयू स्कॉट’ के कहने पर राधानाथ ने अपनी गणितीय गणना और आंकड़ों के आधार पर  माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई की गणना पहली बार की थी ! इस होनहार भारतीय गणितज्ञ की मृत्यु 17 मई 1870 को हो गई !

ii) कौन थे जॉर्ज एवरेस्ट —; 

‘जॉर्ज एवरेस्ट’ भारत के प्रथम सर्वेयर जनरल थे! 1830 में इनकी नियुक्ति इस पद पर हुई थी, जॉर्ज एवरेस्ट ने कभी भी माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई की ना तो गणना की और ना ही वे कभी माउंट एवरेस्ट पर चढ़े ! राधानाथ सिकदर को सर्वेक्षण विभाग में कार्य पर जॉर्ज एवरेस्ट न हीं लगाया था! 1843 में जॉर्ज एवरेस्ट रिटायर होकर वापस इंग्लैंड चले गए;उनके बाद आए नए सर्वेयर जनरल एंड्रयू स्कॉट ने प्रथम सर्वेयर जनरल के सम्मान में पिक xv जिसके ऊंचाई की गणना राधा नाथ ने की थी, उसका नामकरण माउंट एवरेस्ट कर दीया !

iii) कैसे नापी जाती है पर्वत(एवरेस्ट) की ऊंचाई —;

सर्वप्रथम राधानाथ ने अवलोकन के आधार पर प्राप्त आंकड़ों, और पर्वत की चोटी के विभिन्न भागों के बीच बनने वाले आपतन कोण के त्रिकोणमितीय गणना के आधार पर इसकी ऊंचाई का अनुमान लगाया था; उनके बाद भी की गई  गढ़नाओं  में इसी पद्धति के आधार पर ऊंचाई का अनुमान लगाया गया है!

 गत वर्षों में गणना की आधुनिक विधि में, एवरेस्ट की चोटी पर जीपीएस सिस्टम लगाकर सेटेलाइट से प्राप्त आंकड़ों के आधार पर; इसकी ऊंचाई 8848.86 मीटर निश्चित की गई है! इसी प्रकार अन्य पर्वतों की ऊंचाई की गणना  की जाती है !

 

iv)कहां स्थित है माउंट एवरेस्ट —;

माउंट एवरेस्ट नेपाल और तिब्बत की सीमा में स्थित है ! मूल रूप से यह नेपाल के पूर्वी उत्तरी छोर पर स्थित है, माउंट एवरेस्ट का क्षेत्र नेपाल के अधिकार में आता है ! 

v) क्यों बढ़ रही है,माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई —:

माउंट एवरेस्ट नवीन वलित पर्वत श्रृंखला के अंतर्गत आता है; इसका निर्माण भारतीय प्लेट के यूरेशियन प्लेट में घुसने से हुआ है; भारतीय प्लेट लगातार उत्तर की ओर खसक कर यूरेशियन प्लेट में घुस रही है ! जिससे भारतीय प्लेट और यूरेशियन प्लेट के बीच में पड़ने वाला स्थान पर्वत के रूप में ऊपर की ओर उठता जा रहा है ! इसी स्थान पर हिमालय पर्वत श्रृंखला स्थित है ऐसा अनुमान है कि हर वर्ष लगभग 44 मिलीमीटर की रफ्तार से एवरेस्ट की ऊंचाई बढ़ रही है !

vi) विश्व का सबसे ऊंचा पर्वत कौन सा है —;

यदि दृश्य पृथ्वी के सतह के सबसे ऊंचे पर्वत की बात करें तो निश्चित रूप से  8448 मीटर की ऊंचाई के साथ एवरेस्ट विश्व का सबसे ऊंचा पर्वत है परंतु यदि संपूर्ण पृथ्वी सतह के ऊपर स्थित पर्वतों की तुलना की जाए तो अमेरिका के हवाई  में समुद्र के अंदर स्थित मौना किया माउंटेन विश्व का सबसे ऊंचा पर्वत है 

          मौना किया माउंटेन एक ज्वालामुखी पर्वत है; जो प्रशांत महासागर में स्थित है; यह एक विशाल दीप का भाग है! इसका आधार समुद्र तल से बहुत नीचे है; और समुद्र तल से इसकी ऊंचाई लगभग 10210 मीटर है! 

vii)माउंट एवरेस्ट पर चढ़ने वाले सबसे पहले व्यक्ति —;

माउंट एवरेस्ट की चोटी पर 29 मई 1953 को पहुंचने वाले सबसे पहले व्यक्ति न्यूजीलैंड के सर एडमंड हिलरी थे; और यदि पहले भारतीय पुरुष की बात की जाए तो एडमंड हिलेरी के साथ ही भारतीय शेरपा तेनजिंग नोर्गे ने भी हिमालय की चढ़ाई की थी!

यदि प्रथम महिला की बात की जाए तो वह है जूनको तांबे जिन्होंने 16 मई 1975 को हिमालय की चोटी पर चढ़ाई पूरी की थी!

   प्रथम भारतीय महिला जिन्होंने हिमालय की चोटी पर चढ़ाई की थी वह है बछेद्री पाल; उन्होंने यह चढ़ाई 1984 में की थी !

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*