tirathgarh waterfall | तीरथगढ़ जलप्रपात विशेषताए, पहुंच मार्ग, नदी,पर्यटन स्थल के बारे मे |

इस लेख मे 

तीरथगढ़ जलप्रपात |

तीरथगढ़ जलप्रपात किस नदी पर है |

तीरथगढ़ जलप्रपात की विशेषता |

तीरथगढ़ जलप्रपात पहुंच मार्ग |

तीरथगढ़ जलप्रपात के निकट कौन सी गुफा है |

तीरथगढ़ जलप्रपात के नजदीक स्थित अन्य पर्यटन स्थल |

तीरथगढ़ जलप्रपात 

छत्तीसगढ़ के मशहूर जलपापातो में से  tirathgarh waterfall  का नाम प्रमुखता से लिया जाता है | 

अगर इस की भौगोलिक स्थिति की बात करें तो यह जलप्रपात छत्तीसगढ़ के दक्षिणी हिस्से में बस्तर जिले के अंतर्गत स्थित है | tirathgarh waterfall कांगेर घाटी नेशनल पार्क के अंदर स्थित है, यहां पहुंचने का मार्ग आसान है, किंतु इसकी स्थिति दुर्गम क्षेत्र वाली है | जगदलपुर से लगभग 35 किलोमीटर दूर राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 30 जो कि बस्तर को हैदराबाद से जोड़ता है पर यह जलप्रपात मुख्य सड़क से लगभग 10 किलोमीटर अंदर की ओर स्थित है | 

       इस जलप्रपात का नाम तीरथगढ़ कैसे पड़ा इस संबंध में कई कहानियां प्रचलित है |

इनमें से एक प्रमुख कहानी के अनुसार प्राचीन समय से ही साधु दूर-दूर से इस जलप्रपात पर स्थित भगवान शिव के प्राचीन मंदिर पर पूजा पाठ करने आते थे,और इसका महत्व एक तीरथ के जैसे बताया गया, इसलिए इस जगह का नाम तीरथगढ़ पड़ गया |

तीरथगढ़ जलप्रपात किस नदी पर बना है –:

               यह जलप्रपात मुनगा बहार नदी पर स्थित है | यह नदी कांगेर घाटी नेशनल पार्क की प्रमुख नदी है, तीरथगढ़ जलप्रपात से 10 किलोमीटर दक्षिण पश्चिम दिशा में घनघोर जंगलों के बीच इस नदी का उद्गम स्थल है | यह नदी कांगेर घाटी नेशनल पार्क में कई झरनों का निर्माण करती है, उनमें से सबसे प्रमुख तीरथगढ़ जलप्रपात है,यह नदी वर्ष भर सदानीरा रहती है, चाहे आप किसी भी मौसम में आए आपको तीरथगढ़ जलप्रपात का सुंदर नजारा देखने को मिलेगा |

तीरथगढ़ जलप्रपात की विशेषता -:

  1. प्रकृति की गोद में बसा यह जलप्रपात अत्यंत सुंदर है |
  2. tirathgarh waterfall  तक पहुंच मार्ग अत्यंत सुलभ है |
  3. जलप्रपात के नजदीक खाने-पीने की सारी सुविधाएं उपलब्ध है |
  4. यह जलप्रपात प्रत्येक मौसम में खुला रहता है |
  5. जलप्रपात को नीचे से निहारने के लिए उपयुक्त सीढ़ियां बनी हुई है |
  6. जलप्रपात के नजदीक अन्य दर्शनीय स्थलों की भी भरमार है |
  7. प्रत्येक मौसम में यह जलप्रपात दर्शनीय है |
  8. यह जलप्रपात सीढी जैसी आकृति पर स्थित है |
  9. इस जलप्रपात पर ऊपर से नीचे गिरता हुआ पानी ऐसा लगता है जैसे हजारों लीटर दूध  गिर रहा है |

तीरथगढ़ जलप्रपात पहुंच मार्ग -:

जलप्रपात के दीदार के लिए सबसे पहले हमें छत्तीसगढ़ के दक्षिणी जिले बस्तर के मुख्यालय जगदलपुर पहुंचना होगा और यहां पहुंचने के लिए हवाई, रेल, और सड़क मार्ग उपलब्ध है |

हवाई मार्ग 

      प्रतिदिन एक फ्लाइट हैदराबाद से जगदलपुर और फिर जगदलपुर से रायपुर को कनेक्ट करती है ,इस प्रकार हवाई मार्ग से छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से जगदलपुर आसानी से पहुंचा जा सकता है इसके अलावा तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद से भी इस हवाई मार्ग से जगदलपुर आसानी से पहुंचा जा सकता है |

रेल मार्ग 

रायपुर से उड़ीसा होते हुए जगदलपुर के लिए रेल मार्ग उपलब्ध है इसके अलावा आंध्र प्रदेश के प्रमुख शहर विशाखापट्टनम से जगदलपुर के लिए प्रतिदिन रेलों का आवागमन है | रेल के माध्यम से भी बस्तर के मुख्यालय जगदलपुर में आसानी से पहुंचा जा सकता है |

सड़क मार्ग 

रायपुर से 300 किलोमीटर की दूरी पर जगदलपुर स्थित है | प्रतिदिन सैकड़ों बस,  रायपुर से जगदलपुर के लिए संचालित होती है, इसके अतिरिक्त आंध्र प्रदेश के शहर विशाखापट्टनम से भी 300 किलोमीटर की दूरी बस

के माध्यम से पूरी की जा सकती है | इस मार्ग पर भी कई बसें संचालित होती है |

      इसके अलावा तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद से भी प्रतिदिन बसों का संचालन जगदलपुर के लिए होता है, वहां से भी जगदलपुर पहुंचना सड़क माध्यम से आसान है |

         जगदलपुर तक पहुंच जाने के बाद जगदलपुर में रहने खाने की संपूर्ण व्यवस्था है | यहां पर बजट के अनुरूप लॉज और होटल उपलब्ध है| तीरथगढ़ वॉटरफॉल के जाने के लिए आपको अपना मुख्यालय जगदलपुर में

ही सुनिश्चित करना होगा क्योंकि वाटरफॉल के आसपास रहने की कोई भी सुविधा नहीं है |

                                           जगदलपुर से दक्षिण दिशा की ओर लगभग 25 किलोमीटर से कांगेर घाटी नेशनल पार्क की शुरुआत हो जाती है, वहां से 5 किलोमीटर घुमावदार रास्तों से आगे बढ़ने के बाद सड़क से दाएं

दिशा में तीरथगढ़ जलप्रपात का मार्ग जाता है, जो  मुख्य मार्ग से लगभग 10 किलोमीटर अंदर स्थित है | मुख्य सड़क से दाएं और तीरथगढ़ वॉटरफॉल के लिए और बाएं और कुटुमसर गुफा के लिए मार्ग है |

       इसके अलावा तीरथगढ़ वॉटरफॉल पहुंचने के लिए एक और मार्ग जगदलपुर के ब्लॉक दरभा से भी है | इसी नेशनल हाईवे क्रमांक 30 पर आगे बढ़ने पर लगभग 10 किलोमीटर की दूरी पर दरभा स्थित है, दरभा से

लगभग 7 से 8 किलोमीटर दूरी पर यह जलप्रपात स्थित है |

तीरथगढ़ जलप्रपात के निकट कौन सी गुफा है -:

             तीरथगढ़ जलप्रपात के निकट दो गुफाएं स्थित है पहली कुटुमसर और दूसरी कैलाश गुफा है इसके अतिरिक्त अन्य भी गुफाएं हैं |

कुटुमसर 

tirathgarh

यह  गुफा कांगेर घाटी नेशनल पार्क में स्थित है मुख्य मार्ग से लगभग 12 किलोमीटर अंदर जंगलों के बीच यह गुफा स्थित

है |चूना पत्थर से बनी हुई झाड़ फानूस सी आकृतियां इस गुफा को खूबसूरत बनाती है ! इस गुफा के अंदर दिन में भी रात

जैसा अंधकार होता है, इसलिए वन विभाग द्वारा पर्यटकों के लिए गाइड और फ्लैशलाइट टॉर्च आदि की व्यवस्था कर ही

इन गुफाओं में जाने की अनुमति दी जाती है |

जून से अक्टूबर तक यह गुफा पर्यटन के लिए बंद होती है, क्योंकि उस दौरान इस गुफा के अंदर पानी भरा होता है | इस

गुफा का दीदार करने का सबसे अच्छा समय नवंबर से अप्रैल तक है | 

कैलाश गुफा 

यह गुफा मुख्य सड़क से लगभग 15 किलोमीटर घनघोर जंगलों के बीच स्थित है | कुटुमसर गुफा की तरह इस गुफा का

निर्माण भी चुना पत्थरों से हुआ है, इसलिए यहां पर भी झाड़ फानूस की आकृतियां गुफा की खूबसूरती को बढ़ा देती है | इस गुफा का एक मुख्य आकर्षण  यह  है कि, यहां कुछ ऐसे पत्थर पाए जाते हैं जिन्हें आपस में ठोकने

पर वाद्य यंत्रों की ध्वनि सुनाई देती है |

सावधानियां 

       इन प्राकृतिक स्थानों पर जाने से पहले कुछ सावधानियों के बारे में विचार अवश्य कर लेना चाहिए क्योंकि लापरवाही के कारण प्रत्येक वर्ष लोग ऐसे स्थानों पर गहरी मुसीबत में फंस चुके हैं या मारे गए हैं, तो इन स्थानों

पर घूमने जाने पर  किन सावधानियों को अमल में लाना है उस पर विचार करते हैं |

1)   तीरथगढ़ वॉटरफॉल की ऊंचाई  ज्यादा है इसलिए पानी जिस स्थान से ऊपर से गिर रहा है उस जगह से थोड़ी दूरी आवश्यक है साथ ही पत्थरों पर काई जमी होने से पैर फिसलने की संभावना होती है 

2) यदि आप तैरना जानते हैं तो भी इन जगहों पर पानी में उतरना खतरनाक हो सकता है कई पर्यटक पानी के अंदर पत्थरों के बीच फंसकर दुर्घटना के शिकार हो चुके हैं या तेज प्रवाह में तैर नहीं पाने के कारण मुश्किल में

फस चुके हैं |

3)  तीरथगढ़ वॉटरफॉल सघन जंगलो के बीच स्थित है , अकेले जंगलो के अंदर नहीं जाना चाहिए |

4) इन स्थानों पर प्रशासन द्वारा दिए गए निर्देश या अंकित निर्देशों को कभी भी नजरअंदाज ना करें और समस्त निर्देशों का पालन अवश्य करें |

          इस प्रकार उपरोक्त सावधानियां बरतकर आप इन प्राकृतिक स्थानों का भरपूर आनंद उठा सकते हैं |

तीरथगढ़ जलप्रपात के नजदीक स्थित अन्य पर्यटन स्थल -:

  1. दंतेवाड़ा 
  2. चित्र कोट जलप्रपात
  3. गणेश बहार
  4. बिनता घाटी
  5.  सात धार
  6.   बारसूर 
Read More ; सांभर झील | ( Sambhar Lake ) क्यों खारा है

1 thought on “tirathgarh waterfall | तीरथगढ़ जलप्रपात विशेषताए, पहुंच मार्ग, नदी,पर्यटन स्थल के बारे मे |”

Leave a Comment